वीमेन वायग्रा के बारे में पाएं पूरी जानकारी विस्तार से

Published:Nov 30, 202309:56
0
वीमेन वायग्रा के बारे में पाएं पूरी जानकारी विस्तार से
,

हम सब अक्सर केवल शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हैं। लेकिन, इनके साथ-साथ सेक्शुअल स्वास्थ्य का सही रहना भी बेहद आवश्यक है। सेक्स या सेक्स से जुड़े हर मुद्दे का जितना महत्व पुरुषों के जीवन में है, उतना ही महिलाओं के लिए भी यह महत्वपूर्ण हैं। पुरुषों की तरह महिलाएं भी यौन इच्छा के कम या अधिक होने की समस्या से जीवन में कभी न कभी अवश्य गुजरती हैं। महिलाओं में सेक्स ड्राइव के कम या अधिक होने के सामान्य कारण होते हैं गर्भावस्था, मेनोपॉज़, तनाव आदि। 

जब महिला अपनी सेक्स लाइफ से खुश नहीं होती तो इसे फीमेल सेक्शुअल डिसफंक्शन कहा जाता है। यह कोई बीमारी नहीं है। लेकिन, यह समस्या चिंता का विषय अवश्य हो सकती है। यह परेशानी कम उम्र की महिलाओं में 25 प्रतिशत और बड़ी उम्र की 50 प्रतिशत से भी अधिक महिलाओं को हो सकती है। ऐसे कुछ सप्लीमेंट बाजार में उपलब्ध हैं जो यौन इच्छा को बढ़ाने में लाभदायक हैं। हालांकि, इन्हें डॉक्टर की सलाह के बाद ही लेना चाहिए। लेकिन, इनका प्रभाव सीमित और अप्रमाणित है। 

महिलाओं के लिए कुछ ऐसी दवाईयां भी मौजूद हैं जिन्हें वीमेन वायग्रा(Girls viagra) या फीमेल वायग्रा(Feminine viagra) कहा जाता है। अगर आप इस चीज के बारे में नहीं जानते हैं तो आपके लिए यह जानकारी बेहद लाभदायक साबित हो सकती है। जानिए फीमेल वायग्रा(Feminine viagra) के बारे में विस्तार से जानने से पहले, जानिए महिलाओं में यौन इच्छा की कमी के कारण कौन से हैं। 

महिलाओं में यौन इच्छा की कमी के कारण

महिलाओं के लिए वायग्रा(viagra for ladies) के बारे में जानने से पहले यौन इच्छा की कमी(low libido) के कारणों के बारे में जानना आवश्यक है। महिलाओं में सेक्स संबंधी समस्याएं होना भी कोई असामान्य नहीं है। महिलाओं में सेक्स सम्बन्धी समस्या कामोत्तेजना में परेशानी होना या यौन इच्छा में कमी(low libido) या इन दोनों के कारण हो सकती है। महिलाओं की यौन इच्छा में कमी के कई कारण हो सकते हैं, जैसे:

यह भी पढ़ें: महिलाओं में यौन समस्याओं के प्रकार, कारण, इलाज और समाधान

  • दैनिक जीवन के तनाव या व्यस्त जीवनशैली से महिलाओं की सेक्स की इच्छा समाप्त हो जाती है।
  • यौन इच्छा में उतार-चढ़ाव आना रिश्ते की शुरुआत में बेहद सामान्य है। इसके अलावा जीवन में बड़े बदलाव जैसे गर्भावस्था या मेनोपॉज़ आदि भी इसका कारण बन सकते हैं।
  • कुछ महिलाओं के लिए सेक्स सुखहीन हो सकता है या चिंता पैदा कर सकता है जिससे सेक्स में रुचि कम हो जाती है।
  • यौन इच्छा अक्सर पार्टनर्स  के बीच अंतरंगता के साथ ही पिछले अनुभव से भी जुड़ी होती है। समय के साथ, मनोवैज्ञानिक परेशानियां भी कामेच्छा में कमी का कारण बन सकती हैं।
  • कुछ बीमारियां या दवाईयां भी इसका कारण बन सकती हैं जैसे मधुमेह या मल्टीपल स्केलेरोसिस। इससे भी यौन इच्छा में कमी(low libido) आ सकती है।
  • उम्र के बढ़ने के कारण भी सेक्स ड्राइव में महिलाएं कमी महसूस करती हैं
  • FSIAD(Feminine Sexual Arousal Dysfunction) हाइपोएक्टिव सेक्शुअल अराउजेल डिसऑर्डर के कारण भी महिलाएं सेक्स ड्राइव में कमी महसूस करती हैं।

इसके लक्षण इस प्रकार हैं:

                     1)  सेक्शुअल या फेंटेसी का न होना या उन में कमी होना।

                     2) यौन संकेतों या उत्तेजना की इच्छा में कमी या न होना।

                     3) यौन गतिविधियों में रुचि बनाए रखने दिलचस्पी न होना या कम होना।

                     4)  यौन रुचि या उत्तेजना की कमी पर निराशा, अक्षमता, या चिंता की महत्वपूर्ण भावनाएं।

यह भी पढ़ें: सेक्स मिस्टेक्स (Intercourse Errors): यौन संबंध के समय जाने-अनजाने महिलाएं करती हैं ये 9 गलतियां 

वीमेन वायग्रा

कौन सी हैं वीमेन वायग्रा(Girls viagra)

कम यौन इच्छा का इलाज महिलाओं के लिए वायग्रा(viagra for ladies) उपलब्ध है, जिनका सेवन महिलाएं करती हैं। इस बीच, फ़ूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने इस समस्या को हल करने के लिए दो दवाओं, फ्लेबैनसेरिन (Flibanserin) या एड्डी (Addyi) और ब्रेमेलानोटाइड(Bremelanotide) या वायलसि(Vyleesi) को मंजूरी दी है। कम सेक्स ड्राइव का इलाज करने वाली दवाइयों का महिलाओं और पुरुषों में अलग-अलग प्रभाव होता है। जानिए कौन सी हैं FDA द्वारा मंजूर वो दवाईयां जिन्हें वीमेन वायग्रा(Girls viagra) कहा जाता है। इसके साथ ही जानिए यह दवाईयां कैसे काम करती हैं और इनके साइड इफेक्ट क्या हैं। 

1) वायलसी (Vyleesi) (ब्रमेलोनाटाईड)

जिन महिलाओं के अभी पीरियड आते हैं यानी जो महिलाएं प्री मेनोपॉज़ल हैं। उनमें सेक्शुअल डिजायर को बढ़ाने के लिए वायलसी दवाई का इंजेक्शन लगाया जाता है। जैसे पुरुष संभोग से पहले वायग्रा लेते हैं। वैसे ही संभोग से कम से कम 45 मिनट पहले वायलसी का इंजेक्शन महिला के पेट या जांघ पर लगाया जाता है।  इस वीमेन वायग्रा(Girls viagra) का प्रभाव 24 घंटे तक रह सकता है। लेकिन, इस दवाई को हर महीने आठ से ज्यादा बार लेने की सलाह नहीं दी जाती। वायलसी के कुछ साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं जैसे सिरदर्द, उलटी आना और इंजेक्शन वाली जगह पर रिएक्शन होना आदि। अगर आपको इन में से कोई भी समस्या होती है तो किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से संपर्क करें।

Quiz: क्विज खेलें और जानें पीरियड्स के बारे में

2) एड्डी(Addyi) (फ्लिबनसेरिन)

वायलसी की तरह एड्डी को भी प्रीमेनोपॉज़ल महिलाओं में कम सेक्स की इच्छा को दूर करने के लिए प्रयोग किया जाता है। लेकिन, यह एक पिल यानी गोली के रूप में आती है। इस वीमेन वायग्रा(Girls viagra) पिल को महिला रोजाना ले सकती है। उस दिन भी जिस दिन उन्हें संभोग न भी करना हो। सेक्स की इच्छा को बढ़ाने के लिए इस पिल को आठ हफ्तों तक लिया जाता है। हालांकि, अधिकतर महिलाएं इससे पहले भी इसके असर को महसूस कर सकती हैं। एड्डी की रोजाना एक पिल लेने से कुछ लोग कुछ साइड इफ़ेक्ट भी महसूस करते हैं जैसे ब्लड प्रेशर का कम होना, जी मचलना, बेहोशी आदि। खासतौर, पर अगर इस दवाई को अल्कोहल के साथ मिला कर लिया जाए

ऐसे में इस फीमेल वायग्रा (Feminine viagra) के साथ अल्कोहल को लेने की सलाह नहीं दी जाती। इसके साथ ही एक्सपर्ट इस बात की भी सलाह देते हैं कि अगर आप आठ हफ्तों के बाद भी अपनी सेक्स ड्राइव में कोई सुधार महसूस न करें, तो इस दवाई को लेना बंद कर दें। भारत में फीमेल वायग्रा(feminine viagra in india) उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें: यौन शोषण क्या है: इससे जुड़े कानून के बारे में जानिए

वीमेन वायग्रा(Girls viagra) कैसे काम करती है?

यह दोनों दवाएं दिमाग में केमिकल मेसेंजर्स की गतिविधि को बढ़ावा देती हैं, जिन्हें न्यूरोट्रांसमीटर कहा जाता है। वीमेन वायग्रा(Girls viagra) केमिकल उत्तेजित महसूस करने में मदद करते हैं और इसके लिए महत्वपूर्ण हैं। इस दवाई के अच्छे परिणामों के लिए हर दिन फ्लेबिनसेरिन का सेवन करना पड़ता है, चाहे आप सेक्स करने की योजना बना रहे हों या नहीं। हालांकि जरूरत पड़ने पर ही ब्रेमेलनोटाइड इंजेक्ट की जाती है। लेकिन, इस बात का ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह दवा सेक्स को बेहतर नहीं बनाती है।

यह दवाएं आपके मूड को सही बनाने और अच्छा महसूस करने के लिए हैं। आपके डॉक्टर वीमेन वायग्रा(Girls viagra) दवाई के साथ साथ आपको सेक्स एजुकेशन और काउन्सलिंग की भी सलाह देंगे। इसके साथ ही आपको हार्मोन थेरेपी की भी जरूरत हो सकती है। खासतौर पर अगर आप सेक्स को प्रभावित करने वाली शारीरिक समस्याओं जैसे योनि में रूखापन आदि से गुजर रही हों।

वीमेन वायग्रा

फीमेल वायग्रा(Feminine viagra) कितनी प्रभावी हैं?

अभी तक यह बात साबित नहीं हुई है कि यह वीमेन वायग्रा(girls viagra) 100 % प्रभावी हैं। खासतौर, पर इसलिए क्योंकि हर किसी का शरीर अलग होता है। किंतु, यह दवा इस बात के संकेत दिखा रही है कि इनसे संभावित रूप से बड़ी समस्या का समाधान हो सकता है। महिलाओं के लिए वायग्रा(viagra for ladies) यौन इच्छा को बढ़ाने और सेक्शुअल लाइफ को खुशनुमा बनाने में कुछ हद तक सहायक साबित हो सकती हैं। FDA द्वारा प्रमाणित यह दवाईयां तीन क्लिनिकल ट्रायल्स पर आधारित है। 

वीमेन वायग्रा

यह भी पढ़ें: यह 10 बातें बचायेंगी बच्चों को बाल यौन शोषण से

क्या महिलाएं पुरुषों की वायग्रा(males viagra) ले सकती हैं?

यौन इच्छा एक जटिल समस्या है। सबसे बड़ी परेशानी यह है कि पुरुष और महिलाएं अलग अलग होते हैं और जब बात सेक्शुअल उत्तेजना की आती है। तो एक के लिए प्रभावी समाधान दूसरे के लिए मददगार साबित हो ऐसा जरूरी नहीं है। महिलाओं पर वायग्रा के प्रभाव के लिए की गई साइंटिफिक रिसर्च के परिणाम बहुत आशाजनक नहीं है। हालांकि, जिस तरह से यह वीमेन वायग्रा(Girls viagra) शरीर में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने के लिए काम करती है वो शरीर की उत्तेजना को बढ़ाने के लिए उपयोगी है। लेकिन, इस दवा का यौन इच्छा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

सेक्शुअल एन्जॉयमेंट के लिए वायग्रा उपयोगी है। सच तो यह है कि पुरुषों की वायग्रा(males viagra) को महिलाओं द्वारा उपयोग के लिए लाइसेंस नहीं दिया गया है। इस बात से यह पता चलता है कि दवा निर्माता सफल क्लिनिकल ट्रायल करने में असमर्थ रहे हैं।

गर्भनिरोधक का कौन-सा तरीका है बेस्ट, जानिए
[embed]https://www.youtube.com/watch?v=IRs490s854M[/embed]

कौन सी दवाई आपके लिए सही है?

इन दोनों दवाइयों {वायलसी (Vyleesi) और एड्डी(Addyi)} के अपने जोखिम हैं। आपको इन में से कौन सी दवाई लेनी चाहिए और कौन सी नहीं,  यह आपके लाइफस्टाइल पर निर्भर करता है। जैसे कुछ महिलाएं इंजेक्शन लेने में आरामदायक महसूस नहीं करती हैं, तो कुछ को रोजाना पिल लेने में समस्या होती है। ऐसे में डॉक्टर से सलाह लें और उसके इस दवाई का सेवन करना शुरू करें। इसके अलावा, इन स्थितियों में भी इस दवाई को लेने की सलाह नहीं दी जाती है।

  • अगर आप लीवर संबंधी समस्याओं से पीड़ित हैं
  • अगर आपको दिल से संबंधित रोग(heart problems) है।
  • अगर आपको HIV, हेपेटाइटिस C या हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है।
  • जो महिलाएं प्रेग्नेंट हैं या ब्रैस्ट फीडिंग कराती हैं। उन्हें इन दवाइयों का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: Viagra : वाइग्रा क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

विशेषज्ञों ने अभी केवल यही शोध किया है कि यह वीमेन वायग्रा(Girls viagra) उन महिलाओं पर कैसे काम करती है, जिन्हें अभी पीरियड आते हैं यानी जो अभी रजोनिवृत्ति की उम्र तक नहीं पहुंची हैं। ऐसे में, इन दोनों दवाइयों को अभी केवल उन्हीं महिलाओं को लेने कि सलाह दी जाती है जिन्हें अभी पीरियड आते हैं। आपको सेक्शुअल लाइफ में कोई समस्या है, तो महिलाओं के लिए वायग्रा(viagra for ladies) को लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य करें। कुछ मामलों में दवाएं,  क्रीम, क्लिटोरल उत्तेजना या अन्य उपचार भी सहायक हो सकते हैं। यही नहीं, कुछ स्थितियों में आपके डॉक्टर आपको सेक्स थेरेपिस्ट से मिलने की सलाह भी दे सकते हैं।।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है


To stay updated with the latest Bollywood news, follow us on Instagram and Twitter and visit Socially Keeda, which is updated daily.

sociallykeeda profile photo
sociallykeeda

SociallyKeeda: Latest News and events across the globe, providing information on the topics including Sports, Entertainment, India and world news.