- Advertisement-
HINDI HEALTH

मैडोना होर कॉम्प्लेक्स के बारे में जानिए विस्तार से


हमारे समाज में एक मुद्दा हमेशा चर्चा में रहता है और वो है महिलाओं को पुरुषों के बराबर अधिकार न मिलने का। हालांकि, पिछले कुछ समय में महिलाओं के लिए नजरिया कुछ हद तक बदला तो है। लेकिन, फिर भी भारत और अन्य देशों में भी महिलाओं की कल्पना केवल दो रूपों में की जाती है। एक या तो उन्हें देवी माना जाता है और हमारे देश में तो देवी की पूजा भी की जाती है। इसका अर्थ वो महिला है जो अपने परिवार और बच्चों के लिए पूरी तरह से खुद को समर्पित कर देती है। वो हर वो त्याग करती है ताकि दूसरों को खुश रख सके। जबकि उसका दूसरा रूप माना जाता है, जो इससे विपरीत होता है। ऐसी महिला को वेश्या या होर(whore) कहा जाता है। इन दोनों की स्थितियों में महिलाओं को ऐसा इंसान नहीं माना जाता जिसकी अपनी कुछ इच्छाएं होती हैं। 

इन्हीं दो रूपों से संबंधित एक विकार है जिसे “मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complex)” के नाम से जाना जाता है। इस विकार को मैडोना होर डाएकोटमी (Madonna Whore Dichotomy) या एम डब्ल्यू डी (MWD) भी कहा जाता है। यह ऐसा विकार है जो पुरुषों में ज्यादातर देखने को मिलता है। इसके बारे में शायद ही आपने सुना होगा। जानिए क्या है यह विकार और पाएं इसके बारे में अन्य जानकारी विस्तार से।

- Advertisement-

क्या है ‘मैडोना होर कॉम्प्लेक्स’ (Madonna whore complicated)?

साइकोअनालैटिक लिटरेचर में, मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) को एक कमिटेड और प्यार भरे रिश्ते में कामोत्तेजना को बनाए रखने की असमर्थता को कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह मनोवैज्ञानिक जटिलता उन पुरुषों में देखी जाती है जो महिलाओं को या तो एक संत यानी अच्छी महिला के रूप में देखते हैं या फिर वेश्या या बुरी महिला के रूप में देखते हैं। मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) में “मैडोना(madonna)” को अच्छी स्त्री और  “होर (whore)” को वेश्या के रूप में परिभाषित किया गया है। यानी स्त्री के इस देवी वाले रूप को मैडोना(madonna) कहा जाता है।

- Advertisement-

यह भी पढ़ें: क्या है मानसिक बीमारी और व्यक्तित्व विकार? जानें इसके कारण

इस कॉम्प्लेक्स से पीड़ित व्यक्ति बुरी या वेश्या को अपने सेक्शुअल पार्टनर के रूप में चाहते हैं किंतु वे सम्मानित साथी की इच्छा नहीं कर सकते या उससे सेक्शुअल संबंध नहीं बनाना चाहते। ऐसे व्यक्ति जिस महिला से प्यार करते हैं, उससे सेक्शुअल संबंध नहीं बना पाते और जिससे सेक्शुअल संबंध बनाते हैं उससे प्यार नहीं कर पाते। 

स्त्री के रूपों को समझने के लिए आप अपने टीवी सीरियल का ही उदाहरण ले सकते हैं। इसमें भी महिलाओं के दो रूप ही दिखाए जाते हैं। एक जिसमें महिला पूरी तरह से पारिवारिक होती है यानी सीता की तरह त्याग करती है, अपने परिवार को पालती है और ऐसा कुछ नहीं करती जिससे उसकी छवि धूमिल हो। वहीं दूसरे रूप में औरत हर बुरे काम को करती है, सबके काम में बाधा बनती है यानी पहले रूप से एकदम विपरीत होती है। 

मैडोना होर कॉम्प्लेक्स

कैसे हुई इस विकार की पहचान

मनोविश्लेषण के संस्थापक, सिगमंड फ्रायड ने अपने पुरुष रोगियों में एक मनोवैज्ञानिक विरोधाभास की पहचान की, जिसे मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) का नाम दिया गया है। इस कॉम्प्लेक्स में पुरुष महिला को केवल दो ही नजरियों से देखता है। एक संत यानी महात्मा और दूसरा वेश्या। जिस में से वो पहले यानी संत रूप को वो प्यार करता है जबकि दूसरे की कामना करता है। इन दोनों के बीच में वो कुछ भी नहीं सोच पाता। यानी उनके दिमाग में स्त्री के केवल यही दो रूप होते हैं। इनके अलावा वो स्त्री के बारे में कोई और विचार नहीं ला पाते।

कैसे रखें अपने मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल, जानिए इस वीडियो के माध्यम से?

सेक्स के बिना प्यार(love withour intercourse)

महिला की सेक्शुएलिटी उसके पूरे जीवन को जानने का पैमाना है। जिस तरह से हम अपनी इच्छाओं को सार्वजनिक रूप से और व्यक्तिगत रूप से यौन सुख के लिए व्यक्त करते हैं, वह समय के साथ बदल सकती है। हालांकि, चिकित्सक और सेक्सोलॉजिस्ट आज भी इस साइकोलॉजिकल कॉम्प्लेक्स वाले लोगों को जांच रहे हैं और उनके अनुसार यह विकार रिश्तों पर भारी प्रभाव डाल सकता है। क्योंकि मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) से पीड़ित व्यक्ति इच्छा तो करता है एक आकर्षक और कामुक महिला की। लेकिन, वो उसे बिगड़ी हुई, अपवित्र और अयोग्य समझता है। जिस कारण वो उसकी इज्जत नहीं कर पाता।

यह भी पढ़ें: मेंटल डिसऑर्डर की यह स्टेज है खतरनाक, जानिए मनोविकार के चरण

ऐसे व्यक्ति इच्छा होने के बावजूद भी इस तरह की महिला से शादी नहीं करना चाहता और वो शादी करना चाहता है तो एक ऐसी महिला से जो उसके अनुसार पवित्र और सच्ची अर्थात मैडोना(madonna) हो। इस बात को आप ऐसे भी समझ सकते हैं कि ऐसे व्यक्ति सेक्स के बिना प्यार(love withour intercourse) में विश्वास करते हैं।

मैडोना होर कॉम्प्लेक्स

मैडोना होर कॉम्प्लेक्स का कारण

ऐसा माना जाता है कि पुरुषों में मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) पुरुषों की प्रेम और सेक्शुअल इच्छा में विभाजन के कारण होता है। ऐसे पुरुष अक्सर महिला को दो वर्गों में विभाजित करते है, एक में वो उन महिलाओं को रखते हैं जिनकी वो प्रशंसा करता है और दूसरे वर्ग में वो महिलाएं होती हैं, जिन्हें वो सेक्शुअल रूप से आकर्षक मानते हैं। जबकि पहली श्रेणी की महिलाओं से वो प्यार करता है, वह दूसरे वाले समूह की महिलाओं का तिरस्कार और असम्मान करता है।

विशेषज्ञों के मुताबिक ऐसा भी संभव है कि व्यक्ति इस दिमागी विभाजन का शिकार तब होता है जब उसका पालन-पोषण एक सख्त लेकिन अधिक सुरक्षा करने वाली माँ ने किया हो या उनकी परवरिश ऐसे समाज में हुई हो, जहां उसके मन में केवल यही बात बैठ गई हो कि किस तरह की महिला को वो मैडोना(madonna) और किस तरह की महिला को होर(whore) कह सकता है। ऐसे में उसका स्वभाव ही ऐसा हो जाता है, जिससे वो इस विकार का शिकार हो सकता है।

यह भी पढ़ें: पल में खुशी पल में गम, इशारा है बाइपोलर विकार का (बाइपोलर डिसऑर्डर)

जो पुरुष मैडोना होर डाएकोटमी (Madonna Whore Dichotomy) या एम डब्ल्यू डी (MWD) से पीड़ित होते हैं उन्हें प्यार और सेक्शुअल रिलेशनशिप के बीच में संबंध पता नहीं होता। न ही वो इनके बीच में अंतर जान पाते हैं। ऐसे लोग अपने जीवनसाथी या प्रेमिका के प्रति सम्मानजनक दृष्टिकोण को बनाए रखने में असमर्थ होते हैं। अपनी पत्नी या प्रेमिका की पवित्रता को बनाए रखने के प्रयास में, वे पूरी तरह से सेक्स और प्यार को अलग रखते हैं और उनकी असंभव इच्छाएं(not possible wishes) और जरूरतें अलग-अलग लोगों से पूरी होती हैं। इसे सेक्स के बिना प्यार(love withour intercourse) होना कहा जा सकता है। यह सब सुनने में अजीब लगता है, लेकिन बहुत अमानवीय है।

इसका एक उदाहरण है जैसे अगर आपके पास पैसा है तो आपके पास घर की सफाई, खाना बनाना या अन्य कार्यों के लिए अलग अलग नौकर होंगे। ये लोग एक विशिष्ट उद्देश्य को पूरा करते हैं। यदि आप महिलाओं के साथ इस तरह से व्यवहार करते हैं, जैसे ये वो महिला हैं जिनके साथ मैंने सेक्स किया है और ये वो महिला हैं जिनसे मैं शादी करुंगा तो इसे  अमानवीय ही कहा जाएगा।

मैडोना होर कॉम्प्लेक्स

महिलाओं में मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) का प्रभाव

मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) अधिकतर पुरुषों की समस्या मानी जाती है। सदियों से महिलाओं को यही बताया जाता है कि अगर वो अपनी विर्जिनिटी को कायम रखती हैं, तभी वो प्यार या सुरक्षा के योग्य हैं। इसलिए, युवा महिलाएं जो इन विचारों को मानती हैं, अक्सर अपनी सेक्शुआलिटी को व्यक्त नहीं कर पाती । यदि उनकी सेक्स ड्राइव(intercourse drive) अधिक हो तो भी वो संभोग जैसी चीज में गुप्त तरीके से शामिल होती हैं। हमारा समाज यह मानता है कि महिला कमिटेड होने के बाद या विवाह के बाद ही सेक्स कर सकती है।

ऐसे में महिलाओं को अपनी यौन इच्छाओं को दबाना पड़ता है और बाद में महिलाओं को यौन इच्छा के कम होने की शिकायत हो जाती है। यही नहीं, मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) में अन्य महिलाओं की तुलना में एक माँ को कम कामुक माना गया है। यानी, अगर आपके बच्चे हैं तो आपको सेक्स से संबंधित अपनी इच्छाओं को मार देना चाहिए। इससे भी महिला को सेक्स ड्राइव का कम होना जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें: Myelodysplastic Syndrome: मायेलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(madonna whore complicated) का उपचार

  • मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(madonna whore complicated) का उपचार करने के लिए सबसे पहले पीड़ित व्यक्ति को इस बात को मानना आवश्यक है कि उसे यह समस्या है। इसके साथ ही उसे अपनी असंभव इच्छाओं(not possible wishes) पर काबू रखना सीखना होगा।
  • फिर उसे उन भावनाओं, विचारों की पहचान करने और लक्षणों को पहचानने की आवश्यकता है जो इस समस्या में उन्हें देखने को मिलते हैं। उन्हें इस बात को समझना भी जरूरी है कि यह विचार और भावनाएं आपने स्वयं अपने अंदर पैदा नहीं की है। बल्कि, यह सब ऐसे समाज से आएं हैं जो पुरुष कामुकता को उत्तेजित करता है और महिला कामुकता को दर्शाता है। 
  • पुरुषों के लिए इसका अगला इलाज है महिलाओं की यौन इच्छाओं के बारे में ज्ञान प्राप्त करना और यह समझना कि यह सब सामान्य और प्राकृतिक है। 
  • पुरुषों को अपने पार्टनर के साथ बातचीत करनी चाहिए और उन्हें बताना चाहिए कि वो क्या चाहते हैं। अगर महिला की सेक्स ड्राइव(intercourse drive) कम है तो ऐसे में आपकी बातचीत उनमें आत्मविश्वास को वापस ला सकती है, जिससे उनकी समस्या कम होने में मदद मिलेगी। 

ऑर्गैज्म क्विज: क्या आप सुलझा पाएंगे चरमसुख से जुड़ी ये पहेलियां?

अन्य उपाय

  • अगर कोई महिला मैडोना होर डाएकोटमी (Madonna Whore Dichotomy) से पीड़ित है तो उसे भी सबसे पहले खुद को दो श्रेणियों में विभाजित होने से रोकना चाहिए। उन्हें अपनी यौन इच्छाओं के बारे में पता होना चाहिए। इसका मतलब है कि उसे अपनी कल्पनाओं और फैंटेसीज का ख्याल रखना चाहिए। ताकि वह अपनी यौन इच्छाओं और संबंधों के बारे में जान पाए और उनका मज़ा ले सके।

यह भी पढ़ें: Childhood epilepsy syndromes : चाइल्डहुड एपिलेप्सी सिंड्रोम क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

  • शादी के बाद मैडोना होर कॉम्प्लेक्स (Madonna whore complicated) इस बात का प्रतीक है कि इसमें दोनों पार्टनर सेक्शुएलिटी को लेकर नकारात्मक और गलत बातों पर विश्वास कर रहे हैं। शादी के बाद सेक्स न होना,असंभव इच्छाएं(not possible wishes) या शादी के बाद सेक्स लाइफ का बोरिंग होना मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(Madonna whore complicated) का परिणाम है।
  • बच्चे होने के बाद पुरुष के साथ महिला भी खुद को अपने पार्टनर की प्रेमिका नहीं केवल एक माँ मानना शुरू कर देती है। मैडोना होर डाएकोटमी (Madonna Whore Dichotomy) या एम डब्ल्यू डी (MWD) के उपचार के लिए सबसे पहले पुरुष को महिला को केवल माँ नहीं बल्कि प्रेमिका भी मानना चाहिए। इसके साथ ही स्त्री को भी खुद को खुद को केवल एक माँ के नजरिये से देखना बंद करना होगा।

इस तरह मैडोना होर कॉम्प्लेक्स(madonna whore complicated) का उपचार किया जा सकता है। 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है



Download Now

Socially Keeda

Socially Keeda, the pioneer of news sources in India operates under the philosophy of keeping its readers informed. SociallyKeeda.com tells the story of India and it offers fresh, compelling content that’s useful and informative for its readers.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

- Advertisement-
Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker